Home मनोरंजन 75th Republic Day 2024: 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है,...

75th Republic Day 2024: 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है, गणतंत्र दिवस, जाने इतिहास

174
0
75th Republic Day 2024: 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है, गणतंत्र दिवस, जाने इतिहास
75th Republic Day 2024: 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है, गणतंत्र दिवस, जाने इतिहास

75th Republic Day 2024: 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है गणतंत्र दिवस, जाने जाने गणतंत्र दिवस का इतिहास महत्व और उद्देश्य।

भारतीय संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ पता 26 जनवरी हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है, 75th Republic Day 2024 गणतंत्र दिवस हम इस साल मनाएंगे।

75th Republic Day 2024

भारत में रहने वाला हर वासी प्रतिवर्ष पूरे हर्ष के साथ गणतंत्र दिवस मानते हैं, साल
1947 में हमारा भारत देश ब्रिटिश के कैद से आजाद तो हो गया था, लेकिन देश को संविधान प्राप्त नहीं था, 26 जनवरी 1950 को भारत देश को संविधान मिला तथा इसी दिन भारतीय संविधान लागू हुआ, और इस दिन भारत एक संप्रभु राज्य बना जिसको गणतंत्र घोषित किया गया, इस साल 2024 में हम 75th Republic Day 2024 मनाएंगे।

75th Republic Day 2024:
75th Republic Day 2024:

गणतंत्र दिवस 2024 समारोह-

भारत देश में  Republic Day बड़ी धूमधाम तथा हर्षोल्लाह के साथ मनाया जाता है गणतंत्र दिवस के समझ में महत्वपूर्ण आकर्षण परेड है, इस परेड में कई सीन शामिल होती है, जैसे भारतीय सेना, वायु सेना,नौसेना तथा और शो के माध्यम से भारतीय संस्कृति और सामाजिक विरासत को प्रदर्शित करते हैं।

75th Republic Day 2024:
75th Republic Day 2024:

गणतंत्र दिवस का महत्व

गणतंत्र दिवस स्वतंत्र भारत देश की भावुकता का एक महत्वपूर्ण प्रतीक है, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने पूर्ण रूप से स्वराज की घोषणा की जो औपनिवेशिक शासन से भारत की स्वतंत्रता की घोषणा थी भारतीय नागरिकों को यह दिन लोकतांत्रिक रूप से अपनी सरकार को चुन्नी की शक्ति की याद दिलाता है, इस दिन को भारतीय संविधान की स्थापना होने की वजह से राष्ट्र, इस दिन को राष्ट्रीय अवकाश के रूप में मनाता है।75th Republic Day 2024

गणतंत्र दिवस का महत्वपूर्ण इतिहास

क्या कारण है, कि हम 26 जनवरी को ही Republic Day मनाते हैं, इसके पीछे बहुत ही रोचक इतिहास छुपा है, और क्या आप जानते हैं की आजादी से पहले स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को ना मना कर किसी दूसरे दिन मनाया जाता था, तो जाने कुछ खास रोचक बातें।

तो जानिए 26 जनवरी को लागू क्यों किया गया गणतंत्र दिवस-

भारतीय संविधान को 26 जनवरी 1950 को लागू करने के कई कारण थे भारत देश के आजाद होने के बाद ही संविधान सभा ने संविधान को माना था, संविधान को लोकतांत्रिक सरकार प्रणाली के साथ 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया, इस दिन भारत को पूर्ण रूप से गणतंत्र घोषित कर दिया गया, भारतीय संविधान को 26 जनवरी के दिन लागू करने का प्रमुख कारण एक यह भी है।

Fingers Swelling: सर्दी में उंगलियों में आ रही सूजन, तो करें ये काम, मिलेगा दर्द से आराम

सर्दियों में बढ़ जाती है Scalp, डैंड्रफ में खुजली की समस्या, अपनाये यह घरेलू नुक्से

साल 1930 में 26 जनवरी को ही भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस ने भारत की पूरी तरीके से आजाद कर देने की घोषणा कर दी थी, साल 1929 में पंडित जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में इंडियन नेशनल कांग्रेस की वजह से ही एक सभा का आयोजन किया गया था, सभा में सभी की सहमति से यह ऐलान किया गया, की अंग्रेजी सरकार द्वारा भारत को 26 जनवरी 1930 तक डोमिनियन स्टेटस का दर्जा दिया जाए, पहली बार इसी दिन भारत में स्वतंत्रता दिवस मनाया गया था।

आजादी मिलने से पहले 26 जनवरी को ही स्वतंत्रता दिवस मनाया जाता था, पूर्ण स्वराज घोषित करने की तारीख 26 जनवरी 1930 को महत्व देने के लिए 26 जनवरी 1950 को संविधान लागू किया गया और 26 जनवरी को Republic Day  घोषित किया गया।

संविधान को बनाया 308 सदस्यों ने

भारत में आज संविधान के आधार पर कार्य किया जाता है, वह संविधान डॉक्टर भारत रत्न बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के द्वारा बनाया गया था, जिन्हें भारतीय संविधान के निर्माता के नाम से जाना जाता है, संविधान में बदलाव तथा सुधारो के बाद कमेटी में शामिल 308 सदस्यों ने 24 जनवरी को कानून की दो कोपियों में हस्ताक्षर किए तथा इसे भारत में 26 जनवरी को लागू कर दिया गया 26 जनवरी का महत्व बना रहा है।

75th Republic Day 2024:
75th Republic Day 2024:

उसके लिए एक पहचान दी गई संविधान लागू होने से पहले चले आ रहे, अंग्रेजों के कानून Government of India act 1935 को भारतीय संविधान के अनुसार भारतीय शासन के रूप में बदल दिया, इसलिए प्रतिवर्ष हम भारतवासी 26 जनवरी को ही Republic Day मनाते हैं।

भारत कितने बजे गणतंत्र राष्ट्र बना

देश 26 जनवरी 1950 को प्रातः 10:18 पर गणतंत्र घोषित हुआ तथा गणतंत्र राष्ट्र बनने के ठीक 6 मिनट बाद 10:24 पर डॉ राजेंद्र प्रसाद ने भारत के सर्वप्रथम राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली गई

डॉ राजेंद्र प्रसाद राष्ट्रपति के रूप में सर्वप्रथम बाजी पर बैठकर राष्ट्रपति भवन से बाहर आए थे जहां सर्वप्रथम उन्होंने सेना की सलामी ली और सर्वप्रथम डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया इस दिन ही भारतवासी तिरंगा फहराना, राष्ट्रगान करना तथा उनके साथ कहीं आयोजन करते तथा उनमें शामिल होते है।

Hero New Mevrick 440 CC पहली बार देखने को मिलेगी भारत में, 22 जनवरी को होने वाली है लॉन्च

गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजन-

गणतंत्र दिवस का समारोह एक सप्ताह तक आयोजन किया जाता है, गणतंत्र दिवस का समारोह अधिकतर राष्ट्रीय वीरता का इनाम पाने वाले बच्चों के नाम का ऐलान करने से शुरूआत होती है, 25 जनवरी को शाम में राष्ट्रपति देश के नाम का संबोधन करते हैं, तथा 26 जनवरी को मुख्य समारोह का आयोजन किया जाता है, तथा दिल्ली में राजपथ पर परेड का आयोजन होता है।

27 जनवरी को प्रधानमंत्री परेड में शामिल होते हैं, तथा एनसीसी कैंडिड से मिलते हैं, 29 जनवरी को रायसीना की पहाड़ियों पर बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम आयोजित किया जाता है, इन कार्यक्रमों में नौसेना भारतीय सेना तथा वायु सेना का बैंड की शानदार धुन में मार्च फास्ट होता है, इन्हीं के साथ गणतंत्र दिवस का समारोह बहुत ही समाप्त होता है।

 

Previous articleFingers Swelling: सर्दी में उंगलियों में आ रही सूजन, तो करें ये काम, मिलेगा दर्द से आराम
Next articleIndian Winter Recipe Gond Ke Laddu : ऐसे बनाएं गोंद के लड्डू
My Self Vansh Singh, I Have Done Polytechnic Diploma, Also Done B.Tech From MITS Collage Gwalior. I Have a 3 Year Experience in Content writing Also Manage Wordpress Data, Google Analytic & SEO. Please Visit my Blog Website & Gain Knowledge.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here